Skip to main content

Posts

दीदी की वासना भाग १

दीदी की वासना भाग १







Didi Ki Vaasna Part 1 :

नमस्कार मेरा नाम राहुल है और में सिंपल सा दिखने वाला लड़का हूँ और में पंजाब में रहता हु, तो कुछ मेरी दीदी के बारे में बताता हु वो मेरे से सात साल बड़ी है. उनके बूब्स और गांड बहुत टाइट है

उनका बात करने का तरीका काफी फ्रेंडली है लड़के उनको उठा के अपने लंड पर बिठाना चाहते है मेरी दीदी की गांड देख कर मेरा भी लंड खड़ा हो जाता है बात सात महीने पहले की है जब मेरे माँ डैड ने घर शिफ्ट किया था और एक ऐसी लोकेलिटी में घर लिया जहा गुंडे बहुत है हमे पता नहीं था की वो लड़के गुंडे  है.

ऊपर से मेरी बहन की ड्रेसिंग बहुत छोटे कपडे डालने वालो में से थी के उन्हें देख कर किसी का भी खड़ा हो जाये उन लडको ने कई बार काफी लडकियो की चुदाई की थी. हमे तब उनके बारे में कुछ पता नहीं था और मैंने उनसे दोस्ती करली मेरी बेहें जब मिनी स्कर्ट पेहें के गली में मेरे साथ खेलती तो सबकी नजर उनकी गांड पर रहती या उनके बूब्स पर,

मोहल्ले के सरे लड़के उनकी चुदाई करना चाहते थे. उसके साथ सोना चाहते थे और में भी उनके हुसन का दीवाना था, वो लड़के मेरे दोस्त थे उनके ग्रुप का लीडर प्रीत था जो दिखने में ठीक …
Recent posts

दीदी की वासना भाग २

दीदी की वासना भाग २







Didi Ki Vaasna Part 2 :

मेरे बहन की आदत भी उसके साथ रहने से ख़राब हो गयी थी कुछ लड़के मेरी दीदी के चुपके से गांड की फोटो भी खीच लेते थे . प्रीत मेरी दीदी के साथ काफी क्लोज हो चूका था

और एक हफ्ते बाद मुझे मेरी दीदी का फ़ोन हाथ आगा और उस में कांटेक्ट लिस्ट में प्रीत का नाम सबसे ऊपर था और मेसेज में मैंने देखा की मेरी दीदी ने उसे पर्पस किया है और उसने एस भी किया,

फिर उसके अगले दिन माँ डैड को किसी काम से दिल्ली जाना पड़ा और में मेरी दीदी घर पर अकेले थे दीदी ने बहाने से मुझे बहार भेजने की कोसिस की और बोली की एक नयी मूवी लगी है जा देख कर आ में चुप चाप घर से पैसे लेकर बहार निकल गया और पीछे वाले गेट से अन्दर आके ऊपर वाले रूम के लाकर में छुप  गया.

कुछ देर बाद मैंने देखा मेरी और प्रीत की फ़ोन पे बात हो रही है दीद ने उसे कहा एक नयी मूवी की डीवीडी आई है आ जाओ देखते है वो तुरंत आ गया और उसने ऊपर आ कर रूम लॉक कर दिया मैंने लोकर थोडा सा खोला हुआ था और मैंने देखा की वो दीदी के साथ बैठा है, फिल्म के बहाने वो मेरी बेहें के झांग पर हाथ रखा और उन्हें गरम कर दिया.

मेरी बेहें ने आँखे बंद की और आवा…

गर्लफ्रेंड की नरम चूत | Free Hindi Sex Stories

गर्लफ्रेंड की नरम चूत







Girlfriend Ki Naram Choot :

है आई ऍम अर्श 29 साल का हु, मेरी गर्लफ्रेंड का नाम अंशु है  वो बहुत खुबसूरत है, बॉडी साइज़ एक दम परफेक्ट शेप में हे, वो मेरे  से कुछ दुरी पे ही रहती है.

उसके घर पे वो और उसके पेरेंट्स रहते है हमलोग अक्सर चुदाई करते थे कभी उसके घर कभी होटल में,कभी कभी किसी इन्टरनेट कैफ़े में जा कर चूमा छाती भी केर लेते थे, एक बार हम लोगो ने कही घुमने का प्लान बनाया, हम लोग आगरा गये, वहा होटल में रूम लिया फिर हम लोग घुमने चले गये.

शाम को वापस आये और जैसे ही गेट  लॉक कियाहुम लोग किस कार्नर लगे और पता भी नही चला कब हूँ लोग उन्ड्रेस  हो गये किस करते करते मैंने उसके बॉडी पार्ट को चूमा.उसके बूब्स को धीरे धीरे मैंने चूसा और फिर चूत में आ गया,और बहुत देर तक उसकी चूत छाती,वो एक बार झड चुकी थी, मैंने उस से इशारो में पुचा के डालू तो उस ने भी कहा की दल दो, मैंने अपना लंड के ऊपर थोडा सा थूक लगाया और उसकी चूत तो पहले ही गीली हो रही थी, मैंने अपने लंड का टोपा उसकी चूत पे सेट किया और हल्का सा ढाका मारा तो मेरा लंड फिसल गया, फिर उस ने अपने हाथ से मेरा लंड पकड़ा और धका मरने को…

कजिन की चुदाई | Free Hindi Sex Stories

कजिन की चुदाई







Cousin Ki Chudai :

सुबह का टाइम था और हम सब उठे ही थे और फ्रेश हो रहे थे और में मुत्थ मार रहा था टॉयलेट में फिर फ्रेश होक हम सब ब्रेकफास्ट करने बैठे थे की तभी कुछ लोग घर पर आ गये, जो हमारे दूर के रिश्तेदार थे उनका परिचय एक बाप, एक माँ और एक जवान बिन बिहाई बेटी जिसके जिस्म से जवानी का रस टपक रहा था  मई जवान लड़का उसकी जवानी के रस से अपना गला गिला करने के लिए मच्चल रहा था.

मुझे पता चला की ये रिश्ते में मेरे चाचा लगते है और यहाँ पे अपनी लड़की के लिए लड़का देखने आये है.

उस लड़की का नाम था निहारिका उसका नाम सुनके मज़ा आ गया था माँ बाप ने सोच समाज कर उसका नाम निहारिका रखा था बाद में हम सब ने एक साथ ब्रेकफास्ट किया और सब अपने काम में लग गये और में निहारिका के पीछे लग गया वो छत पर अकेली थी.

तो में भी छत पे चला गया उसको निहारने के लिए वो सलवार सूट में गज़ब लग रही थी, मेरा लंड खड़ा हो गया फिर में वही बैठ गया ताकि वो मेरे लंड की हरकत को न देख पाए.

थोड़ी देर बाद वो मुझसे मेरे बारे में पूछने लगी, कुछ देर बाद वो निचे चली गयी, दोपहर में उसके घर वाले और मेरी माँ जी लड़का देखने के लिए गये एक पार्क में…

कुंवारी रंडी के साथ दो लोड़े

प्रेषक : राज …

हैल्लो दोस्तों, में आपका प्यारा दोस्त राज हूँ और में मुंबई का रहने वाला हूँ। दोस्तों आज आप सभी कामुकता डॉट कॉम के चाहने वालों को अपनी एक सच्ची घटना मेरा सेक्स अनुभव बताने जा रहा हूँ, जिसमें मैंने अपने एक बहुत अच्छे दोस्त की गर्लफ्रेंड का सहारा लेकर उसकी चुदाई के मज़े लिए और उसकी भी इच्छा को पूरा किया। दोस्तों यह तब कि घटना है, जब मेरे प्यार के दिन खत्म हो चले थे और मुझे किसी की चुदाई किये हुए बहुत अधिक समय बीत चुका था और इसलिए में बहुत ही तन्हा रहने लगा था। दोस्तों वो कहते है ना कि ठीक और अच्छा समय आने पर हर एक कुत्ते के भी दिन बदलते है, ठीक मेरे साथ भी वैसा ही हुआ और में वही अपनी पहले वाली औकात पर आ गया था और उससे पहले तक तो में जैसे तैसे मुठ मारकर अपना काम चला रहा था और में ज़्यादातर अपनी पिछली यादें याद करके मुठ मारा करता था और तब मुझे भी एक दिन एहसास हुआ कि में भी सेक्स के बगैर नहीं रह सकता हूँ और आप लोग मेरी फोटो देखोगे तो आप सभी कहोगे कि साला दिखने में ही बड़ा ठरकी है और में हूँ भी ऐसा, में दो सप्ताह तक लगातार मुठ मारकर काम चला लिया करता हूँ और बिना चूत के करता भी क्…